कोण्डागांव : जल जीवन मिशन अंतर्गत कार्य न करने वाले ठेकेदारों की निरस्त होंगी निविदायें

कोण्डागांव  : जल जीवन मिशन अंतर्गत कार्य न करने वाले ठेकेदारों की निरस्त होंगी निविदायें

छत्तीसगढ़ / कोंडागांव :  कलेक्टर दीपक सोनी द्वारा जल जीवन मिशन अंतर्गत संचालित कार्यो की समीक्षा हेतु बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में कलेक्टर ने जल जीवन मिशन के कार्यो की प्रगति की समीक्षा करते हुए कार्यो की गति में वृद्धि लाते हुए ऐसे ठेकेदार जिनके द्वारा निविदा एवं कार्यादेश के उपरान्त भी निर्धारित समय सीमा में कार्य प्रारंभ नहीं किये जा रहे हैं। उनके विरूद्ध कार्यवाही करते हुए उनकी निविदायें निरस्त कर पुनः निविदा कराते हुए कार्यो को सुचारू रूप से संचालित करते हुए समय सीमा में पूर्ण कराने के निर्देश दिये। 

बैठक में उन्होंने बोरवेल से दूषित पानी आने पर अपनायी जाने वाली मानक संचालन प्रक्रिया के संबंध में जानकारी लेते हुए सभी पूर्ण योजनाओं में स्थानीय ग्रामीणों को पम्प ऑपरेटर एवं तकनीकी सहयोग हेतु ग्राम पंचायत के माध्यम से नियुक्त करने हेतु कहा। उन्होने अधिकारियों को सभी ठेकेदारांे को प्रदर्शन के आधार पर रैंक करते हुए अच्छा प्रदर्शन करने वाले ठेकेदारों को प्राथमिकता प्रदान करने को कहा। दूषित जल के मामलों में लैब के माध्यम से तुरतं जांच कर रिपोर्ट अनुसार गांवो में मुनादी एवं बोर को रंग करने के साथ लोगो में पेयजल के उपयुक्त प्रयोग एवं प्रबंधन के लिए जनजागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिये। इस बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी कार्यपालन अभियंता हरि सिंह मरकाम, डीपीओ एके बिस्वाल, डीईओ आशोक पटेल, एसडीएम विरेन्द्र पाण्डेय सहित जिला समन्वयक, आएसए सीटीपीडी सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहें।